2013 में अमेरिकी एडल्ट इंडस्ट्री को अलविदा कहने के बाद बॉलीवुड स्टार बनने वाली सनी लियोनी अपने फिल्मी सफर में मिले लोगों से बहुत खुश नहीं हैं। सनी को करीब 5 साल बाद महसूस हो रहा है कि बॉलीवुड वालों ने उनसे जितनी बड़ी-बड़ी बातें की, जो सपने दिखाए उनमें से ज्यादातर खोखले साबित हुए। यही वजह है कि सनी ने खुद अपने करिअर की बागडोर संभालने का फैसला किया।

सनी लियोनी ने अपनी जिंदगी पर वेबसीरीज बनाई

पिछले दिनों सनी लियोनी ने अपनी जिंदगी पर वेबसीरीज बनाई। खुद उसमें अभिनय भी किया। वेबसीरीज फ्लॉप रही और अब सनी पति डेनियल वेबर के साथ अपने तीन बच्चों (गोद ली बेटी निशा और सरोगेसी से जन्मी संतानें नोह तथा अशेर) के पालन-पोषण में व्यस्त हैं। इसके बावजूद उन्होंने बॉलीवुड में चमकने की उम्मीद नहीं छोड़ी है और अपना ध्यान अच्छी कहानियों पर लगा रही हैं।

मेरी दिलचस्पी अब अच्छी कहानियों में हैं: सनी लियोनी

37 बरस की हो चुकीं सनी ने हाल में एक बातचीत में कहा – ‘मेरी दिलचस्पी अब अच्छी कहानियों में हैं। मैं हर तरह की फिल्मों में काम करना चाहती हूं। मेरे लिए सबसे बड़ी समस्या है सही लोगों की तलाश करना।’

सनी को बॉलीवुड में सही लोगों का साथ है बहुत जरूरी

कनाडा में जन्मी और अमेरिका में एडल्ट करिअर बनाने वाली सनी को बॉलीवुड में 7-8 साल बिताने के बाद लगता है कि सही लोगों का साथ बहुत जरूरी है। सनी ने कहा – ‘मैंने पहले उन लोगों के साथ काम किया जिन्होंने मुझसे बड़ी बातें की। चांद-सूरज तक पहुंचा देने के सपने दिखाए। यह लोग मुझे लेकर अच्छी फिल्में नहीं बना पाए। मैंने इनसे जो वादे किए थे, उनके मुताबिक अपना बेहतरीन परफॉरमेंस दिया।’

अपनी कुछ फिल्में देखती हैं तो शर्मिंदा हो जाती हैं सनी

सनी ने माना कि अब वह अपनी कुछ फिल्में देखती हैं तो शर्मिंदा हो जाती हैं। उनका कहना है कि मैंने इन फिल्मों के लिए वर्कशॉप अटेंड किए, पूरी मेहनत से अपनी लाइनें याद की थीं। मुझे लगता है कि मैं बेवकूफ थी जो उत्साह के मारे सैट पर जल्दी पहुंच जाया करती थी।

सनी को बॉलीवुड में सही और गलत लोग समझ में आ गए

सनी को बॉलीवुड में सही और गलत लोग समझ में आ गए हैं और इसीलिए उन्होंने पति के साथ मिल कर फैसला किया है कि जल्दबाजी में कुछ नहीं करेंगी। सोच-समझ कर निर्णय लेंगी और उसी निर्माता-निर्देशक के साथ काम करेंगी, जो वैसी फिल्म बना पाने में सक्षम होगा, जैसी कहानी में बताएगा।

शुरुआती फ़िल्में हिट देने के बाद लगातार फ्लॉप हो रही है उनकी फ़िल्में

आपको बता दें, एक्ट्रेस के रूप में सनी की शुरुआती फिल्में ‘जिस्म 2’ और ‘रागिनी एमएमएस-2’ बॉक्स ऑफिस पर कुछ सफल रहीं मगर ‘जैकपॉट’ (2013), ‘एक पहेली-लीला’ (2015), ‘कुछ कुछ लोचा है’ (2015), ‘मस्तीजादे’ (2016), ‘वन नाइट स्टैंड’ (2016), ‘बेईमान लव’ (2016) और ‘तेरा इंतजार’ (2017) लगातार फ्लॉप रहीं। आधा दर्जन फिल्मों में तो निर्माता खर्च की गई रकम तक नहीं निकाल पाए।

सनी की बायोपिक वेबसीरीज के फ्लॉप होने से भी हैं दुखी

 सनी लियोनी को इसके बाद बॉलीवुड में हीरोइन के रूप में फिल्मों के प्रस्ताव मिलने बंद हो गए। सनी ने साउथ का रुख किया, जहां इक्का-दुक्का फिल्में ही उन्हें मिलीं। जिन्हें लेकर विरोध प्रदर्शन भी हुए। उधर, सनी की बायोपिक वेबसीरीज के फ्लॉप होने से भी दुखी हैं।

लगातार गिरते करिअर के कारण बदला फैसला

उनका कहना है कि इस वेबसीरीज में काम करते हुए वह बीते दिनों के अनुभवों से गुजरीं और कई बार पुरानी बातें याद करके बहुत रोईं। बताया जाता है कि सनी की यह वेबसीरीज पहले बायोपिक फिल्म के रूप में बननी थी। फिल्म के लिए ही स्किप्ट लिखी गई थी परंतु बॉलीवुड में इस एडल्ट स्टार के लगातार गिरते करिअर के कारण फैसला बदला गया।

Source